बुधवार, 27 जून 2012

मोहब्बत...









किसी ने मुझसे पूछा ------

"क्या आपको किसी से मोहब्बत है ?"
मैनें कहा ----"हाँ "
"किस से ??? 
मैंने कहा ----

"मुझे मुहब्बत है 'आंसूओ' से .... 
जो किसी की याद में बहते है ----

मुझे मोहब्बत है 'दर्द' से ...
जब किसी के दिल में उठता है --- 

मुझे मोहब्बत है 'जख्मों' से ....
जब कोई पत्थर- दिल देता है ----

मुझे मोहब्बत है 'सज़ा' से ...
जब कोई बा - वफ़ा भोगता है ----

मुझे मोहब्बत है 'आह' से ...
जब किसी दुखी दिल से निकलती है ---

मुझे मोहब्बत उन सब चीजो से है ...
जिससे मोहब्बत का इतिहास लिखा गया ....!





कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें